thaken views&news

Just another Jagranjunction Blogs weblog

35 Posts

32 comments

jagmohanthaken


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

ऋषि मुनियों के देश में अऋषि रहे ना कोय -जग मोहन ठाकन

Posted On: 4 May, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

किसकी शह पर बढ़ रहे हैं गौरक्षकों के हौंसले ?

Posted On: 6 Apr, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

1 Comment

क्या जाट ले पाएंगे आरक्षण ?

Posted On: 4 Apr, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

कुछ दिन तो गुजारो गुजरात माडल में -जग मोहन ठाकन

Posted On: 24 Mar, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

2 Comments

गाजर मूली के साथ धनिया मिर्ची फ्री – जग मोहन ठाकन

Posted On: 3 Mar, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.67 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

2 Comments

हिन्दी व्यंग्य – डिलीट गांधी – पेस्ट मोदी = जग मोहन ठाकन

Posted On: 14 Jan, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 3.67 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

3 Comments

तो क्या फिर भड़केगी गुर्जर आरक्षण की आग ?

Posted On: 12 Jan, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

Posted On: 2 Jan, 2017  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

क्या अठाइस मौतें दिला पाएँगी जाटों को आरक्षण ?

Posted On: 26 Feb, 2016  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

अनायास ही नहीं उपजती असहिष्णुता

Posted On: 1 Dec, 2015  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

3 Comments

Page 1 of 41234»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

आदरणीय आप का आलेख आज के राजनीतिक विश्लेषण के आधार पर बहुत सच हो सकता है ,पर आप कभी दूसरी पार्टियों का भी राजनीतिक विश्लेषण प्रस्तुत करें ,जो मायावती आज गरीब सवर्ण के लिए आरक्षण की मांग कर रही हैं,उनका कभी यह भी नारा था -तिलक ,तराजू और तलवार ,इनको मारो जूते चार ,शायद यह असहिष्णुता नहीं हैं | ऐसी ही सभी पार्टियों के विश्लेषण हो सकते हैं | आध्यात्मिक में जाएँ ,तो हमने यह तो कहा -तुलसी ने लिखा -ढोल ,गवांर ,शूद्र ,पशु, नारी | सकल ताड़ना के अधिकारी || पर हमने इसका प्रचार नहीं किया -हाहाकार कीन्ह गुरु ,दारुण सुन शिव शाप || आधे घंटे तक एक विप्र रूद्राष्ट्क जपता रहा | वहुत से हरिजन ने समाज के बीच रहकर ,मर्यादाओ का पालन करते हुए ,आत्म उत्थान किया और बहुत से सवर्णो ने उन्हें किया | सादर |

के द्वारा: pkdubey pkdubey

के द्वारा: jlsingh jlsingh

के द्वारा: abhishek shukla abhishek shukla

के द्वारा: yatindranathchaturvedi yatindranathchaturvedi

के द्वारा: deepakbijnory deepakbijnory




latest from jagran